गौतमा बाई : जिनकी सूझबूझ से शुरुआत हुई होलकर राजवंश की
मध्यप्रदेश के इतिहास में महिलाएं

गौतमा बाई : जिनकी सूझबूझ से शुरुआत हुई होलकर राजवंश की

गौतमा बाई की इच्छानुसार ही खासगी जागीर होलकर वंश के शासकों की पहली पत्नियों को परंपरानुसार प्राप्त होती गई। खासगी जागीर...

कुशल शासक नवाब सुल्तान जहाँ बेगम जो अपने सौतेले पिता के कारण माँ से हो गयी थीं दूर
भोपाल की नवाब बेगमें

कुशल शासक नवाब सुल्तान जहाँ बेगम जो अपने सौतेले पिता के कारण माँ से हो गयी थीं दूर

सुल्तान जहां एक योग्य और कुशल प्रशासक सिद्ध हुई। कुछ वर्षों में ही उन्होंने भोपाल के प्रशासन और जन जीवन पर अपनी योग्यता...

शाहजहां बेगम -जिन्होंने भोपाल को पहला जनाना अस्पताल और को एड स्कूल दिया
भोपाल की नवाब बेगमें

शाहजहां बेगम -जिन्होंने भोपाल को पहला जनाना अस्पताल और को एड स्कूल दिया

शाहजहां बेगम के शासन काल की एक उल्लेखनीय उपलब्धि है- पहले इटारसी से भोपाल तक रेल मार्ग का निर्माण। इसके लिए उन्होंने राज...

भोपाल रियासत का पहली बार सीमांकन करवाया था सिकंदर बेगम ने
भोपाल की नवाब बेगमें

भोपाल रियासत का पहली बार सीमांकन करवाया था सिकंदर बेगम ने

सिकन्दर बेगम ने बड़ी बहादुरी और योग्यता के साथ भोपाल रियासत का प्रशासन सम्हाला। राजस्व की वसूली ठेके की पद्धति से करने क...

भित्ति चित्रों में स्त्री
पुरातत्त्व में नारी पात्र

भित्ति चित्रों में स्त्री

• वेदप्रकाश नगायच प्राचीन बाघ गुफाओं के भित्ति चित्रों के पश्चात दीर्घ अन्तराल तक चित्रांकन के अवशेष प्राप्त नहीं होते...

जातक कथाओं के शिल्पांकन में स्त्री
पुरातत्त्व में नारी पात्र

जातक कथाओं के शिल्पांकन में स्त्री

मध्यप्रदेश ऐसे कई प्राचीन बौद्ध विहार एवं स्तूप हैं जिनकी दीवारों पर जातक कथाएँ उकेरी हुई हैं।

फातिमा बानो : मजहबी बंदिशों को तोड़ बनीं पहलवान
ज़िन्दगीनामा

फातिमा बानो : मजहबी बंदिशों को तोड़ बनीं पहलवान

घुटनों की चोट के चलते ओलम्पिक नहीं खेल पायीं फातिमा का सपना भविष्य में ऐसे खिलाड़ी तैयार करना है, जो उनके लिए ओलम्पिक खेल...

सितार-संतूर की जुगलबंदी का नाम 'वाहने सिस्टर्स'
ज़िन्दगीनामा

सितार-संतूर की जुगलबंदी का नाम 'वाहने सिस्टर्स'

सितार और संतूर की जुगलबंदी के खूबसूरत नमूने पेश करने वाली प्रकृति और संस्कृति मंच पर एक-दूसरे का भरपूर साथ देतीं हैं। वे...

बेसहारा  बुजुर्गों को  'अपना घर' देने वाली माधुरी मिश्रा
ज़िन्दगीनामा

बेसहारा बुजुर्गों को 'अपना घर' देने वाली माधुरी मिश्रा

माधुरी जी ने करीब 50 लोगों को काउंसलिंग कर उनके घर वापिस भी पहुंचाया है।

पूर्णिमा राजपुरा : वाद्ययंत्र ही बचपन में जिनके खिलौने थे
ज़िन्दगीनामा

पूर्णिमा राजपुरा : वाद्ययंत्र ही बचपन में जिनके खिलौने थे

पूर्णिमा हारमोनियम, तबला, कांगो, बांगो, ढोलक, माउथ ऑर्गन सहित 18 से 20 तरह के वाद्य बजा लेती हैं।

आदिवासियों के उत्थान के लिए प्रतिबद्ध सीमा प्रकाश
ज़िन्दगीनामा

आदिवासियों के उत्थान के लिए प्रतिबद्ध सीमा प्रकाश

सीमा ने अपने प्रयासों से खालवा ब्लॉक की लड़कियों को पलायन करने से भी रोका है। स्पन्दन समाज सेवा समिति विलुप्त हो रही कोर...

महिला बैंक के जरिए स्वावलंबन की राह दिखाई आरती ने
ज़िन्दगीनामा

महिला बैंक के जरिए स्वावलंबन की राह दिखाई आरती ने

आरती ने महसूस किया कि अनपढ़ और कमज़ोर वर्ग की महिलाओं के लिए बैंकिंग जटिल प्रक्रिया है। इसे आसान बनाने के मकसद से ही उन्हो...

सीनियर नेशनल सेलिंग चैम्पियनशिप : भोपाल की
न्यूज़

सीनियर नेशनल सेलिंग चैम्पियनशिप : भोपाल की विद्यांशी ने स्वर्ण , नेहा ने जीता रजत

अकादमी की दोनों पदक विजेता खिलाड़ी अकादमी के मुख्य प्रशिक्षक नरेन्द्र राजपूत और सहायक प्रशिक्षक अनिल शर्मा के मार्गदर्शन...

55 की उम्र में भोपाल की
न्यूज़

55 की उम्र में भोपाल की ज्योति ने फ़तह किया एवरेस्ट

ज्योति का माउंट एवरेस्ट की चोटी फतेह करने का यह दूसरा मौका था। इससे पहले 2023 में भी उन्होंने एवरेस्ट की चोटी तक पहुंचने...

एक माँ जिसने पहले पति, फिर बेटे को
न्यूज़

एक माँ जिसने पहले पति, फिर बेटे को खोया लेकिन हालात से समझौता नहीं किया 

परवरिश ऐसी की तीन में से दो बेटे शिक्षक बने, दोनों को राष्ट्रपति पुरस्कार मिला 

कयाकिंगः रजनी ने पेरिस पैरालिंपिक के लिए किया क्वालीफाई
न्यूज़

कयाकिंगः रजनी ने पेरिस पैरालिंपिक के लिए किया क्वालीफाई

मप्र की तीसरी खिलाड़ी, जो पेरिस जाएंगी

मप्र में बाल विवाह की स्थिति और लाडो अभियान
विमर्श वीथी

मप्र में बाल विवाह की स्थिति और लाडो अभियान

मुख्य उद्देश्य -जनसमुदाय की मानसिकता में सकारात्मक बदलाव के साथ बाल विवाह जैसी कुरीति को सामुदायिक सहभागिता से समाप्त कर...

अनोखी है उदिता योजना
विमर्श वीथी

अनोखी है उदिता योजना

उदिता योजना अंतर्गत किशोरी के मासिक धर्म संबंधी स्वास्थ्य को बढ़ावा दिया जााता हैं।

मप्र की महिलाओं में एनीमिया की स्थिति
विमर्श वीथी

मप्र की महिलाओं में एनीमिया की स्थिति

क्या आपको मालूम है कि देश की आधी आबादी भीतर से कमज़ोर है। उनके साथ आपके घर की सुबह होती है। वे आपके लिए चाय बनाती हैं, न...

महिला किसानों के हित में शासकीय योजनाएं
विमर्श वीथी

महिला किसानों के हित में शासकीय योजनाएं

​​​​​​​मध्यप्रदेश सरकार समय-समय पर महिला किसानों के हित में योजनाएं लेकर आती रही है, जिसके सकारात्मक परिणाम भी हुए हैं।

पुरस्कार सम्मान और मप्र की महिला किसान    
विमर्श वीथी

पुरस्कार सम्मान और मप्र की महिला किसान    

वास्तविकता यह है कि खेती से सम्बंधित 70 प्रतिशत काम काज महिलाएं ही करती हैं। चाहे वह नीड़ाई, बोआई हो या फसल काटने जैसा का...

मप्र के खेल जगत में महिलाओं का योगदान  
विमर्श वीथी

मप्र के खेल जगत में महिलाओं का योगदान  

मध्यप्रदेश की लड़कियां खेलों में शिखर छू रही हैं। पारंपरिक माहौल की बहुत सारी बेड़ियों को झटकते हुए यहां की बेटियों ने ख...

राजस्थान हाईकोर्ट : सौतेली मां के राजकीय सेवा में होने के
अदालती फैसले

राजस्थान हाईकोर्ट : सौतेली मां के राजकीय सेवा में होने के कारण अनाथ युवती को अनुकम्पा नियुक्ति न देना गलत

अनाथ युवती के लिए कोर्ट ने अपनाया उदार रवैया, दो माह में नियुक्ति प्रक्रिया पूरी करने का आदेश दिया

पंजाब हरियाणा हाईकोर्ट : पति के रिश्तेदारों के खिलाफ
अदालती फैसले

पंजाब हरियाणा हाईकोर्ट : पति के रिश्तेदारों के खिलाफ पत्नी द्वारा यौन उत्पीड़न के झूठे आरोप क्रूरता

उच्च न्यायालय ने उस व्यक्ति को तलाक देने के फैमिली कोर्ट के फैसले को बरकरार रखा, जिसकी पत्नी ने उसके परिवार के पुरुष सदस...

सुप्रीम कोर्ट  : गर्भ में पल रहे बच्चे को भी जीने का मौलिक अधिकार
अदालती फैसले

सुप्रीम कोर्ट  : गर्भ में पल रहे बच्चे को भी जीने का मौलिक अधिकार

सुप्रीम कोर्ट ने खारिज की 27 सप्ताह के गर्भ को गिराने की याचिका

जबलपुर हाईकोर्ट : रेप की झूठी शिकायत करने
अदालती फैसले

जबलपुर हाईकोर्ट : रेप की झूठी शिकायत करने की धमकी देना भी खुदकुशी के लिए उकसाना   

महिला डॉक्टर व उसकी मां के खिलाफ एफआईआर को खारिज करने से हाईकोर्ट ने इनकार कर दिया।

पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट :पत्नी और बच्चों की
अदालती फैसले

पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट :पत्नी और बच्चों की बुनियादी वित्तीय जरूरतें पूरी न करना क्रूरता

फैमिली कोर्ट ने पाया था कि यह याची ही था जिसने पत्नी और बच्चे का भरण-पोषण नहीं किया और उन्हें असहाय छोड़ दिया।