आद्या तिवारी को मिलेगा विक्रम अवार्ड

blog-img

आद्या तिवारी को मिलेगा विक्रम अवार्ड

छाया: देशबन्धु

नर्मदापुरम। मप्र के सर्वोच्च खेल पुरस्कार विक्रम अवार्ड के लिए जिले की आध्या तिवारी का चयन हुआ है। आद्या  तिवारी को विक्रम अवार्ड से सम्मानित किया जाएगा। खेल के क्षेत्र में दिए जाने वाले विक्रम अवार्ड की सूची शनिवार देर शाम सोशल मीडिया पर सामने आई। इस सूची में मप्र के 12 खिलाडय़िों के नाम है। जिसमें नर्मदापुरम, इंदौर, भोपाल, धार, जबलपुर, सतना जिले के 12 खिलाडय़िों को पुरस्कार मिलेगा। इंदौर जिले के खाते में 5, भोपाल के 3, सतना, होशंगाबाद, देवास, धार जिले के खाते में एक-एक अवार्ड आएं है। सूची में सबसे ऊपर नर्मदापुरम की 19 साल की बेटी आद्या तिवारी है। आद्या  तिवारी सॉफ्ट टेनिस खिलाड़ी है। जो नेशनल, इंटरनेशनल और एशियन गेम्स में पुरस्कार जीत चुकी है। आद्या के पिता एडवोकेट दीपक तिवारी है। बीते दिनों ही नर्मदापुरम की बेटी आद्या  तिवारी ने गुजरात में आयोजित 36 वें नेशनल गेम्स में गोल्ड और सिल्वर मेडल जीते हैं। सॉफ्ट टेनिस के मिक्सड डबल में आद्या  तिवारी और देवास के जय मीणा की जोड़ी ने गोल्ड मेडल जीता। गुजरात की धरती पर ही गुजरात की टीम को 5-2 से पराजित किया। इसी तरह मध्य प्रदेश सॉफ्ट टेनिस सिंगल्स में जय मीणा ने स्वर्ण पदक और आद्या  तिवारी ने रजत पदक हासिल किया।

संदर्भ स्रोत- देशबन्धु

Comments

Leave A reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

25 से ज्यादा ताल वाद्य बजाती हैं तेजस्विता अनंत
न्यूज़

25 से ज्यादा ताल वाद्य बजाती हैं तेजस्विता अनंत

जिनकी संगीत यात्रा ढोलक बजाने से शुरू हुई थी तेजस्विता ने भारत भवन में एक नाटक में किसी को पखावज बजाते देखा और उसके बारे...

जुड़वां बहनों ने 10 साल की उम्र में लिखीं दो किताबें
न्यूज़

जुड़वां बहनों ने 10 साल की उम्र में लिखीं दो किताबें

वे जब लिखती हैं, तो बड़े-बड़े उनकी रचनात्मकता देखकर हैरान हो जाते हैं।

'दिव्यांग सुदामा'  के जज्बे और जूनून पर  फिल्म बना रहे जर्मन फिल्मकार
न्यूज़

'दिव्यांग सुदामा' के जज्बे और जूनून पर फिल्म बना रहे जर्मन फिल्मकार

जन्म से ही आंखों की रोशनी खो देने वाली कटनी की बेटी सुदामा ने राष्ट्रीय स्तर पर अनेक प्रतियोगिताएं जीती हैं

रंग लाया दिव्यांग जानकी का संघर्ष
न्यूज़

रंग लाया दिव्यांग जानकी का संघर्ष

जानकी सबसे पहले चर्चा में उस वक्त आई, जब उसने एशियन-ओशियन जूडो चैंपियनशिप में दिव्यांग वर्ग में कांस्य पदक जीता।

समाज की दोहरी मानसिकता
व्यूज़

समाज की दोहरी मानसिकता

आम जनता में बहुतेरे लोग यही मानते होंगे कि बिल्किस बानो उनके घर की महिला तो हैं नहीं, जो उनके लिए परेशान हुआ जाए।

सुप्रीम कोर्ट में महिला जजों की बेंच सुन रही मामले
न्यूज़

सुप्रीम कोर्ट में महिला जजों की बेंच सुन रही मामले

पहली बार साल 2013 में जस्टिस ज्ञान सुधा मिश्रा और जस्टिस रंजना प्रकाश देसाई की बेंच बनाई गई थी। दूसरा मौका साल 2018 में...