भारत की प्रथम नेत्रहीन मार्शल आर्ट कोच बनेगी दिव्यांग पूनम शर्मा

blog-img

भारत की प्रथम नेत्रहीन मार्शल आर्ट कोच बनेगी दिव्यांग पूनम शर्मा

छाया: खेल सन्देश डॉट कॉम

लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में किया है आवेदन

अंतरराष्ट्रीय दिव्यांग दिवस के उपलक्ष में नेत्रहीन जूडो की लालघाटी स्थित संस्था श्री ब्लिस मिशन फॉर पैरा एंड ब्राइट से भारत की मशहूर दिव्यांग जूडो खिलाड़ी पूनम शर्मा अपना मुख्य कोचिंग कैरियर शुरू करेंगी। विश्व जूडो वरीयता में इनका 14वां स्थान है। पूनम वर्ष 2018 से ही भारत में नंबर वन पर खेल रही हैं। पूनम शर्मा ने कुल 9 अंतर्राष्ट्रीय टूर्नामेंट से एशियन चैम्पियनशिप कजाकिस्तान 2019  से दो कांस्य पदक एवं कॉमनवेल्थ जूडो चैंपियनशिप 2019 इंग्लैंड और कॉमनवेल्थ जूडो चैंपियनशिप 2018 से भारत देश के लिए दो स्वर्ण अर्जित किए हैं। पूनम शर्मा को 2017 में खेलों से जोड़ने वाली सीएसपी कोतवाली बिट्टू शर्मा भी अंतरराष्ट्रीय स्तर पर ख्याति प्राप्त जूडो खिलाड़ी हैं। सीएसपी बिट्टू शर्मा ने बताया दिव्यांग खिलाड़ी महिलाओं एवं बच्चों का प्रशिक्षण लालघाटी स्थित केंद्र पर कर रहे हैं। हमारा जूडो हॉल मिनी स्टेडियम के रूप में दिव्यांग खिलाड़ियों के रोजगार के लिए तैयार है अब हमने दिव्यांग प्रशिक्षकों के लिए लिए उचित वेतन भी निर्धारित कर लिया है।

पूनम का भारत से प्रथम दृष्टिबाधित फिटनेस ट्रेनर एवं जूडो कोच के लिए लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स पर आवेदन दिया जा चुका है। पूनम आसानी से सामान्य बच्चों एवं महिलाओं की मार्शल आर्ट टीम बना पा रही हैं एवं राज्य स्तर पर भी अच्छे परिणाम आ रहे हैं। पूनम शर्मा आगामी पैरा एशियन गेम्स चाइना 2022 की तैयारी भी कर रही हैं। इस अवसर पर इंडियन ब्लाइंड एंड पैरा जूडो एसोसिएशन के सचिव मुनव्वर अंजार, श्री ब्लिस मिशन फॉर पैरा एंड ब्राइट संस्था के सचिव प्रवीण भटेले एवं प्रमुख उद्योगपति चंद्रशेखर यादव ने शुभकामनाएं दी एवं पुरस्कार वितरण किया।

साभार- स्पोर्ट्स एज 

Comments

Leave A reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

25 से ज्यादा ताल वाद्य बजाती हैं तेजस्विता अनंत
न्यूज़

25 से ज्यादा ताल वाद्य बजाती हैं तेजस्विता अनंत

जिनकी संगीत यात्रा ढोलक बजाने से शुरू हुई थी तेजस्विता ने भारत भवन में एक नाटक में किसी को पखावज बजाते देखा और उसके बारे...

जुड़वां बहनों ने 10 साल की उम्र में लिखीं दो किताबें
न्यूज़

जुड़वां बहनों ने 10 साल की उम्र में लिखीं दो किताबें

वे जब लिखती हैं, तो बड़े-बड़े उनकी रचनात्मकता देखकर हैरान हो जाते हैं।

'दिव्यांग सुदामा'  के जज्बे और जूनून पर  फिल्म बना रहे जर्मन फिल्मकार
न्यूज़

'दिव्यांग सुदामा' के जज्बे और जूनून पर फिल्म बना रहे जर्मन फिल्मकार

जन्म से ही आंखों की रोशनी खो देने वाली कटनी की बेटी सुदामा ने राष्ट्रीय स्तर पर अनेक प्रतियोगिताएं जीती हैं

रंग लाया दिव्यांग जानकी का संघर्ष
न्यूज़

रंग लाया दिव्यांग जानकी का संघर्ष

जानकी सबसे पहले चर्चा में उस वक्त आई, जब उसने एशियन-ओशियन जूडो चैंपियनशिप में दिव्यांग वर्ग में कांस्य पदक जीता।

समाज की दोहरी मानसिकता
व्यूज़

समाज की दोहरी मानसिकता

आम जनता में बहुतेरे लोग यही मानते होंगे कि बिल्किस बानो उनके घर की महिला तो हैं नहीं, जो उनके लिए परेशान हुआ जाए।

सुप्रीम कोर्ट में महिला जजों की बेंच सुन रही मामले
न्यूज़

सुप्रीम कोर्ट में महिला जजों की बेंच सुन रही मामले

पहली बार साल 2013 में जस्टिस ज्ञान सुधा मिश्रा और जस्टिस रंजना प्रकाश देसाई की बेंच बनाई गई थी। दूसरा मौका साल 2018 में...